Skip to content

Isro ने launch किया PSLV-C 51 जानिए क्या खास बात है launch में

Posted in Technology, and Worldwide

Last updated on March 8, 2021

Isro ने launch किया PSLV-C 51 जानिए क्या खास बात है launch में नेशनल साइंस डे (National Science Day) 2021 28 फरवरी विज्ञान दिवस के दिन इसरो ने भारत रत्न (C. V. RAMAN) को सम्मानित करते हुए इस दिन को यादगार बनना दिया। इसरो (ISRO) ने आज ही के दिन साल 2021 का पहला अंतरिक्ष का अभियान सफलता पूर्वक रहा. इसकी खास बात यह थी की PSLV-C51 अपने साथ ब्राजील के सैटेलाइट एमेजोनिया-1 समेत 18 अन्य उपग्रह लेकर गया है। इनमें 13 सैटेलाइट अमेरिका के हैं। इस अभियान में श्रीमद्भगवद्गीता और PM नरेंद्र मोदी की तस्वीर को अंतरिक्ष में भेजा गया.अब स्पेस में भी भगवत गीता का सार गूंजेगा।

@all rights given to isro

28 फरवरी को देश भर में साइंस डे (Science day) मानते है यानि विज्ञान दिवस। यह दिवस हमारे देश के भारत रत्न महान वैज्ञानिक चंद्रशेकर वेंकट रमन (C.V. Raman) की खोज जो की उन्होंने 1928 में रमन प्रभाव ‘Raman Effect’ के नाम से की थी. उसी की याद में यह दिन बनाया जाता है. देश भर के हर स्कूलों में यह दिवस बनाया जाता है ताकि बच्चो की विज्ञान की और रूचि बड़े.

Also read : पति की बेहरुखी बनी Ayesha के suicide का कारण

1986 में हुई थी शुरुवात :

नेशनल कौंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नॉलजी कम्युनिकेशन (National Council for Science and Technology Communication) हर वर्ष 28 फरवरी के दिन विज्ञान दिवस के रूप में मानते है. हर साल यह दिवस अलग अलग थीम के आधार में मानते है. इस दिवस की शुरवात 1986 में पहेली बार नेशनल काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी कम्युनिकेशन (National Council for Science and Technology Communication) द्वारा की गई तब से ले के अब तक हर साल यह दिवस बनाया ताकि डॉ. C.V. Raman के प्रयास को अमर रख सके.

क्यों बोला जाता है भारत रत्न :

बता दे की CV raman की इस खोज में बताया की जब एक पारदर्शी पदार्थ से गुजरने पर प्रकाश की किरणों के तरंगदैर्ध्य में बदलाव आता है. प्रकाश प्रकीर्णन के क्षेत्र में अपना महतवपूर्ण योजदान दते हुए उन्हे 1930 में नोबल प्राइज द्वारा सम्मानित किया गया और उसके बाद 1954 में गौरव शील भारत रत्न से सम्मानित किया गया.

इस साल की थीम :

बताना चाहेंगे की इस साल राष्ट्रय विज्ञान दिवस की थीम “फ्यूचर ऑफ़ साइंस टेक्नोलॉजी एंड इनोवशन: इम्पैक्ट ऑफ़ एजुकेशन ,स्किल एंड वर्क” को रखा गया था. इसके मायने थे: शिक्षा,कौशल एवं कार्य के प्रभाव।

इसरो के लिए क्यों था खास दिन :

@all rights given to isro

Isro ने launch किया PSLV-C 51 जानिए क्या खास बात है launch में इसरो ने आज ही के दिन इस साल का अपना पहला अंतरिक्ष अभियान सफलता पूर्वक पूरा किया PSLV-C51 अपने साथ ब्राजील के सैटेलाइट एमेजोनिया-1 समेत 18 अन्य उपग्रह लेकर गया है। इनमें 13 सैटेलाइट अमेरिका के हैं। जिसमे खास बात यह थी की इस में श्रीमद्भगवद्गीता और नरेंद्र मोदी की तस्वीर को अंतरिक्ष में भेजा गया. यह दिखता है की अंतरिक्ष में में भी गीता का सार गूंजेगा।

क्या कुछ होता है खास इस दिन में :

हमारे देश की राष्ट्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी परिषद और विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय (National Council of Science and Technology and Ministry of Science and Technology) द्वारा देश भर में विभिन कार्यक्रमों को आयोजित कराते है. खासा स्कूलों और कॉलेजो में भी साइंस प्रोग्राम आयोजित करवाते है ताकि इस के द्वारा बच्चो का रुझान साइंस की और बड़े और वह भी एक महान साइंटिस्ट की तरह बने. इस तरह यह दिन इसलिए खास तौर तरीको से मनाया जाता है.

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://www.highperformancecpmnetwork.com/fn8k2wgy?key=55c1b26e4cb5b8cf83d0f8a29284f066
https://www.videosprofitnetwork.com/watch.xml?key=3cf418e088349bbe6b0c2eb26f78affd
Translate »